लेता है जान मेरी तो में सर-ब-दस्त हूँ's image
0103

लेता है जान मेरी तो में सर-ब-दस्त हूँ

ShareBookmarks

लेता है जान मेरी तो में सर-ब-दस्त हूँ

ऐ यार मैं तो कुश्ता-ए-रोज़-ए-अलस्त हूँ

इक दम की ज़िंदगी के लिए मत उठा मुझे

ऐ बे-ख़बर मैं नक़्श-ए-ज़मीं की निशस्त हूँ

तू मस्त कर शराब से ऐ गुल-बदन मुझे

ज़ालिम मैं तेरी चश्म-ए-गुलाबी से मस्त हूँ

दूर-अज़-तरीक़ मुझ को समझियो न ज़ाहिदा

गर तू ख़ुदा-परस्त है मैं बुत-परस्त हूँ

इन संग-दिल बुतों का गिला क्या करूँ 'नज़ीर'

मैं आप अपने शीशा-ए-दिल की शिकस्त हूँ

 

Read More! Learn More!

Sootradhar