आदमी हर तरह लाचार है प्यारे भाई's image
0249

आदमी हर तरह लाचार है प्यारे भाई

ShareBookmarks

आदमी हर तरह लाचार है प्यारे भाई
और क्या ख़ाक समाचार है प्यारे भाई

गुंडई में बड़ी रफ़्तार है प्यारे भाई
सिर्फ़ सौजन्य गिरफ़्तार है प्यारे भाई

भष्ट आचार यहाँ सिर पे चढ़ा जादू है
धुन रहा शीश सदाचार है प्यारे भाई

नाचना, कूदना, मंचों पे चढ़ा जादू है
अब विदूषक ही कलाकार है प्यारे भाई

मौत के घूँट पिए किंतु ज़ुबाँ बन्द रही
खुदकुशी किस क़दर ख़ुद्दार है प्यारे भाई

ज़ोर से चीखिए मत नींद उचट जाएगी
चैन से सो रही सरकार है प्यारे भाई

श्याम को श्वेत करो और कोई रंग भरो
आपके हाथ में अख़बार है प्यारे भाई

 

Read More! Learn More!

Sootradhar