आश्नाई ब-ज़ोर नहिं होती's image
0156

आश्नाई ब-ज़ोर नहिं होती

ShareBookmarks

आश्नाई ब-ज़ोर नहिं होती

मत करो शर्र-ओ-शोर नहिं होती

दोस्ती जो कि बे-तमअ हो है

ज़र अगर दो करोर नहिं होती

एक मरता हूँ तिस पे तू मत मर

गोर पर और गोर नहिं होती

Read More! Learn More!

Sootradhar