ख़ुदी क्या और ख़ुदी का मुद्दआ' क्या's image
096

ख़ुदी क्या और ख़ुदी का मुद्दआ' क्या

ShareBookmarks

ख़ुदी क्या और ख़ुदी का मुद्दआ' क्या

जो बंदा है बनेगा वो ख़ुदा क्या

किसी ख़ुद-बीं से होता आश्ना क्या

तुझे देखा था दुनिया देखता क्या

क़यामत-ख़ेज़ जिस की इब्तिदा हो

फिर उस की इंतिहा का पूछना क्या

तिरे जल्वों ने फ़ुर्सत ही नहीं दी

मैं नैरंग-ए-ज़माना देखता क्या

तजल्ली राज़ है सहरा-ए-हस्ती

हरीम-ए-हुस्न का पर्दा उठा क्या

नज़र में रख तू अपनी हद्द-ए-इम्काँ

दुआ को देख तासीर-ए-दुआ क्या

करम-गुस्तर फ़क़ीर-ए-बे-नवा हूँ

फ़क़ीर-ए-बे-नवा का मुद्दआ क्या

तकल्लुफ़ बरतरफ़ मैं साफ़ कह दूँ

वफ़ा क्या और पैमान-ए-वफ़ा क्या

हक़ीक़त खुल गई ऐ 'राज़' आख़िर

भरम था 'क़ादरी' साहब को क्या क्या

Read More! Learn More!

Sootradhar