नाक's image
0 Bookmarks 38 Reads0 Likes

सूंघ तो लेती है सबकुछ
सही और सटीक
बोलने से बचती है
संकोची है आंखों से भी ज्यादा
डरती है मर्यादा के मूर्तिभंजन से
इसलिए सांस लेने में संकट हो तब भी
अकसर चुप रहती है नाक

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts