जो हर रोज जाता था वो गीत हूं मैं...'s image
11K

जो हर रोज जाता था वो गीत हूं मैं...

ShareBookmarks
मुझसे सुनो खूब गजलें, मधुर गीत
मुझसे मेरा मात्र परिचय न पूछो
कि तपती दुपहरी में छत पर अकेली
जो तुमको बुलाता था वो गीत हूं मैं
मुंह ढांपकर नर्म तकिये के भीतर
जो तुमको रुलाता था वो गीत हूं मैं
तुम्हारे ही पीछे जो कॉलेज से घर तक
जो हर रोज जाता था वो गीत हूं मैं...
Read More! Learn More!

Sootradhar