कर्म's image
0110

कर्म

ShareBookmarks


सर सर सर सर हवाएँ बहतीं
झर झर झर बहता झरना

हिम्मत जो रखता है हरदम
उसको किसी से क्या डरना

कड़ कड़ कड़ कड़ बिजली चमके
गड़ गड़ ओलों का गिरना

कायरता कमजोरी होती
उसको पड़ता है मरना

दड़बड़ दड़बड़ बच्चे दौड़े
जीवन में है कुछ करना

जैसे कर्म करेंगे जग में
पड़ेगा वैसा ही भरना....

Read More! Learn More!

Sootradhar