वंस बड़ौ बड़ी संगति पाइ's image
0170

वंस बड़ौ बड़ी संगति पाइ

ShareBookmarks

वंस बड़ौ बड़ी संगति पाइ, बड़ाई बड़ी खरी यौ जग झेली।

साँप फुकारन सीस रसारनु है सबसे जिय ऊपर खेली।

बाइक एक ही बार उजारि कै मारि सबै ब्रज नारि नवेली।

मोहन संग तू लै जसुरी, बसु (री) बँसुरी ब्रज आइ अकेली।।

Read More! Learn More!

Sootradhar