जागो प्यारे's image
1 min read

जागो प्यारे

Ayodhya Prasad UpadhyayAyodhya Prasad Upadhyay
Share0 Bookmarks 234 Reads

उठो लाल अब आँखे खोलो
पानी लाई हूँ मुँह धो लो

बीती रात कमल दल फूले
उनके ऊपर भंवरे डोले

चिड़िया चहक उठी पेड़ पर
बहने लगी हवा अति सुंदर

नभ में न्यारी लाली छाई
धरती ने प्यारी छवि पाई

भोर हुआ सूरज उग आया
जल में पड़ी सुनहरी छाया

ऐसा सुंदर समय न खोओ
मेरे प्यारे अब मत सोओ

No posts

No posts

No posts

No posts

No posts