पर्यावरण हमारा's image
Poetry1 min read

पर्यावरण हमारा

YOGENDRA SINGH RAJAWATYOGENDRA SINGH RAJAWAT January 4, 2023
Share0 Bookmarks 59535 Reads0 Likes

"पर्यावरण हमारा"


वन-उपवन में लताकुंज,


नित हवा का सहारा,


सबसे प्यारा पर्यावरण हमारा ।



हरिमा संग हरियाली ,


जहां मन अमत्सर हो जाते हैं ।


खेत खलियान खिल उठते ,


और बसंत बहार लाते हैं।


कल-कल निनाद नदियां बहती,


सुकून भरा सागर किनारा ,

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts