आँख अब भरना नहीं है gazal by Vinit Singh Shayar's image
99K

आँख अब भरना नहीं है gazal by Vinit Singh Shayar

दिल उसके नाम अब करना नहीं है

हमें फिर उसपे तो मरना नहीं है


हमें मजबूर ना कर दें वो आँखें

हमें इन बातों से डरना नहीं है


गोगल डाल के गुजरा करो तुम

हमें ये क़लमा अब पढ़ना नहीं है


रख

Read More! Earn More! Learn More!