Wo mohabbat (वो मोहब्बत)'s image
291K

Wo mohabbat (वो मोहब्बत)

महफ़िल कहती हैं भुला दो उनको, फिर भी दिल से रहा नही जाता।

तस्वीर सामने आती जब उनकी, वो दर्द भी दिल से सहा नही जाता।।

किस नादानी की सजा मिली है, इतना बस कोई बतला दे।

हर गलत

Read More! Earn More! Learn More!