कबाड़ीवाला's image
294K

कबाड़ीवाला

तु नख से शिख तक नश्वर है

तुझे फिर काहे का तेवर है


वो कबाड़ीवाला आयेगा

तेरी बाँह पकड़ ले जायेगा

ना पूछेगा ना बोलेगा

ना नापेगा ना तोलेगा

तुझे जाना हो ना जाना हो

सब उसकी मर्ज़ी पर निर्भर है


तु नख से शिख तक नश्वर है

तुझे फिर काहे का तेवर है


तुझे दूर देश ले जायेगा

तेरा सब पीछे रह जायेगा

तेरी धन दौलत तेरे महल सलोने

छूटेंगे तेरे खेल खिलोने

जिन आँखों पर था जान छिड़कता

कुछ गदगद हैं कुछ निरझर हैं


तु नख से शिख तक नश्वर है

तुझे फिर काहे का तेवर है


वह अजब कबाड़ीवाला है

वह सब कुछ जाननेवाला है

तेरा पूर्जा पूर्जा कर देगा

Read More! Earn More! Learn More!