वक्त वक्त की बात's image
78K

वक्त वक्त की बात

फिर समय क्या पता,मिले न मिले,

जो भी हैं काम जरूरी कर लो।

ज़िन्दगी का नहीं भरोसा कोई,

जो भी है कामना, पूरी कर लो।।


वक्त के छल-फरेब से पहले,

वक्त को मुट्ठियों में भर लेना।

इससे पहले कि वो फिसल जाए,

स्वप्न साकार सभी कर लेना।


वक्त की अहमियत को समझे जो,

वक्त उसका ही साथ देता है।

Read More! Earn More! Learn More!