बेजान शाख's image
263K

बेजान शाख

वो मासूम सी मन की, 
चुलबुली सी लड़की! 
दिखती नहीं हैं अब
नज़र लगी है शायद किसी की! 

देखा था जिसे पंछी सी चहकते हुए, 
ख़्वाबों के आसमां में उड़ते हुए , 
कुछ बेरंग सा दिखता हैं अब चेहरा
ना जाने क्यूँ लगाए है पहरा!! 
<
Read More! Earn More! Learn More!