वह भारत देश मेरा's image
100K

वह भारत देश मेरा


विपन्नता में दो जुन रोटी को तरसते
सम्पन्नता में घी दूध की नदी बहती

डालडाल पर यहां सोने की चिड़िया
करती है बसेरा वह भारत देश मेरा

करोड़ो फ्री अनाज से बसर करते
किसे परवाह महंगाई होती है क्या

बिन रोजगार जनता चैन से सोती
भूखे भजन हो वो भारत देश मेरा

बीस लाख टिकट है क्रूज़ की मगर
सन् चौबीस तक बुकिंग हो जाती

हज़ारो करोड़पति देश छोड़ जाते
देख खुश होते वह भारत देश मेरा

कोई विदेशी नौकरी से धन कमाता
देश का धन स्विस बैंक में बढ़ जाता

अर्थशास्त्री गणित नही समझ पाते
हर हाल में खुश वह भारत देश मेरा
Read More! Earn More! Learn More!