स्वर सृष्टि का मूल है's image
101K

स्वर सृष्टि का मूल है


स्वर सृष्टि का मूल है नाद ब्रह्म सृष्टि जान
स्वर ही ईश्वर साधना राग-विराग अनुभूत

भगवान शिव डमरू से स्वर उपजते जान
व्याकरण से उपजते संगीत छंद एवं ताल 

ब्रह्मा सृष्टि रच रहे मगर रही सृष्टि मृतवत
सृष्टि में ध्वनि न स्वर है रच ब्रह्मा है उदास

ध्यान सरस्वती का कर तब करे आवाहन
वीणा पाणिनि प्रकट हुई लेके वीणा हाथ

जब तार झंकृत हुए सृष्टि हुई स्वर प्रधान<
Read More! Earn More! Learn More!