श्रमवीर कर्मवीर कहलाता's image
78K

श्रमवीर कर्मवीर कहलाता


वेद पुराण है गाता इतिहास दोहराता
विकास गाथा में श्रम का जिक्र आता
निकला कर्मभूमि पर सुसज्ज होकर
श्रमवीर जमाने मे कर्मवीर कहलाता

भावि प्रबल को ठोकर मारकर जाता
गर्मी सर्दी बारिश के जो थपेड़े सहता 
आपने हाथों भविष्य लिखने निकला
श्रमवीर जमाने मे कर्मवीर कहलाता

उद्यम से ही मानव कार्य सिद्धि पाता
सोच विचार कोरी कल्पना से न होता
सोते सिंह के मुंह में शिकार न आता
Read More! Earn More! Learn More!