पराजय वरण कर's image
79K

पराजय वरण कर


सेना सहित राजा विश्राम का मन बनाता
राजा विश्वामित्र तब वशिष्ठ आश्रम आया

गाधिपुत्र प्रणाम कर ऋषि सानिध्य में बैठे
आशीर्वाद दे ऋषि आतिथ्य आग्रह करते

राजा विचारे कैसे सैना का आतिथ्य करे
आतिथ्य दुष्कर था जाने की आज्ञा मांगे

ऋषि आग्रह से राजन ने स्वीकार किया
ऋषि ने व्यवस्था नंदिनी गौ सुपुर्द किया

आतिथ्य पा प्रसन्न राजा विचार करते
नंदिनी गौ राज्य की धरोहर बनकर रहे

राजा संसाधन पर राज्याधिकार बतात
Read More! Earn More! Learn More!