नही होता स्वर्णमृग प्रिये's image
94K

नही होता स्वर्णमृग प्रिये

भरमाता कोई नही होता स्वर्णमृग प्रिये
देवी जिद छोड़ो ये कोई आसुरी माया है
सृष्टि के इतिहास में स्वर्णमृग नही हुआ
देवी पहचानो इसे यह जग की माया है

देवी जिद पर अड़ी मृग खूब ही प्यारा है 
देव आस पूरी करो मन इस पर आया है 
नारीहठ के आगे पुरुष झुक ही जाता है
ले धनुष बाण चले रघुराई कैसी माया है

मायापति राम आज माया में भरमाये है
Read More! Earn More! Learn More!