डर डायन बनकर आ रहा है's image
81K

डर डायन बनकर आ रहा है

वर्षो पहले दफन किया जिंदा नजर आ रहा है

गमगीन माहौल दिल को चीर रही हर आहट है


हंसी खुशी के गुलदस्ते रहे क्यों आज वीराने है 

प्राण हलक में अटके डर डायन बन आ रहा है


साम्प्रदायिकता का राग ठंडा पडता जा रहा है

अंगारे राख में तब्दील हुए कमल मुरझा रहा है


न गालीगलौज न लडे जिंदा लोगो की रीत नही

Read More! Earn More! Learn More!