हुस्न-ए-बनारस's image
97K

हुस्न-ए-बनारस

उस घाट पर पंक्तियों से लगी नावें
आज भी छिपाती हैं,
गंगा

Read More! Earn More! Learn More!