जो वीरगति को आतुर हो !'s image
262K

जो वीरगति को आतुर हो !

शोक सदा तुम अपना पाले
गवाँ जीवन के देते क्षण,
दिन रात की वेदनाओं से
बना स्वयं के भीतर देते रण॥

अंगारो पर चलना पर 
न थकान करो सहज स्वीकार
कठिन
Read More! Earn More! Learn More!