मंजिल की प्यास's image
Share0 Bookmarks 206295 Reads0 Likes

अपने मंसूबे ही बनाते हैं,

अपना मुकद्दर,

यह सच , जानते हैं सब मगर,

दर दर भटकते हैं मंजिल की,

तलाश में,

मंजिल उन्हें ही मिलती है,

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts