ममता की विवशता's image
96K

ममता की विवशता

जिस मां के आंचल में जन्नत नजर आती थी,

आज उस आंचल में पैबंद क्यों,

जो आंचल छत बनकर ममता का छाया दिया,

आज एक कपड़े का टुकड़ा क्यों ?

Read More! Earn More! Learn More!