गांव छोड़ शहर's image
79K

गांव छोड़ शहर

गांव छोड़ शहर हम आए

आंखों में सपनों के दीप जलाए,

मेहनत से हर काम करेंगे

अपने अरमानों के हर ख्वाब भरेंगे,

सच्चाई से जब मुलाकात हुई

देख हकीकत मन घबराए

गांव छोड़ शहर हम आए ।

गांव की अपनी यादों में खोए

प्रेम परस्पर भाई चारा की मीठी यादों को संजोए

गांव की चह

Read More! Earn More! Learn More!