गाँव की यादोँ में बचपन's image
267K

गाँव की यादोँ में बचपन

गाँव छोड़ मैं शहर की ओर चला,

रोजी रोटी की जुगाड में,

छूटा माँ के आँचल का सिलसिला,

गाँव छोड़ मैं शहर की ओर चला ।

ये गलियाँ ये सड़क ये नीम की छाया,

जहाँ भरी दोपहरी में हमने था समय बिताया,

उन लमहों से जुडा है कभी भूल ना पाया,

वो खेतों मे लहलाते गेहूं की बालियां,

छोड़ कर आया किससे करुँ मैं गिला,

गाँव छोड़ मैं शहर

Read More! Earn More! Learn More!