चांद की बातें's image
77K

चांद की बातें

एक दिन चांद ने पूछा तूं रोता क्यों है

मेरे खुशगवार चांदनी में सिसकता क्यों है,

मेरे अश्क तले कवियों ने कविताएं लिखी

प्यार करने वालों ने मोहब्बत की कसमें खाई

एक तूं है की तेरे चेहरे पर गम की परछाई,

जिंदगी आंसुओं तले कटती नहीं

जिंदगी तो फूल की तरह खिलती है

जिसके खुशबू से फिजाएं महक जाती है,

Read More! Earn More! Learn More!