बदल गया इंसान's image
259K

बदल गया इंसान

बड़ी बेदर्द दुनिया है जो औरोँ को दुख ना समझे,

किसकी परेशानी क्या है यह भी न जो समझे,

इंसानियतम खो गयी मतलब के कालिमा में,

किसी में कुछ भी नहीं बचा मानवता के बानो में ।।


हर इंसान के दिल में बस पैसों की चाहत है,

अपने हित के लिए दूसरोँ को घातक है,

Read More! Earn More! Learn More!