आशाओं के पनघट's image
98K

आशाओं के पनघट

आशाओं के पनघट पर बैठा है चातक

स्वाति की बूंदों का इंतजार

वर्षा के एक बूंद को तरसता रहा पर

स्वाति के बूंदों को बेकरार ।

महीनों इंतजार में प्यासा रहा

स्वाति के बूंदों से बुझेगी ये प्यास ,

<
Read More! Earn More! Learn More!