वो जज़्बात ही क्या's image
74K

वो जज़्बात ही क्या

वो जज़्बात ही क्या

जिन्हें बिना मशक़्क़त

पढ़ लिया जाए


वो एहसास ही क्या

जो आसानी से

लफ़्ज़ों में ढाल दिए जाएं


वो लम्हें ही क्या

जो बिन मसरूफ़ियत

गुज़र न पाएं


वो नज़रें ही क्या

जो दिल की

Read More! Earn More! Learn More!