सवेरे का सूरज  [ Savere ka Suraj ]'s image
MotivationalPoetry1 min read

सवेरे का सूरज [ Savere ka Suraj ]

rmalhotrarmalhotra October 26, 2021
Share0 Bookmarks 218028 Reads1 Likes

बढ़ा कर दो कदम आगे 


चुनौती को ललकारो तो सही 


पौरुष को अपने एक बार 


लगन से पुकारो तो सही  

 

डरा रहे है जो आज़माइशों के अँधेरे 


आभास उनको अपने वजूद का 


कराओ तो सही 


तुम स्वयं सवेरे क

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts