जानिए समझिए's image
77K

जानिए समझिए

घंटो तक कहीं जो रुकी रहे, 

उसे रेल नहीं कहते


बच्चे आपस में न उलझें तो, 

उसे खेल नहीं कहते


भारी छूट ना मिले अगर,

उसे सेल नहीं कहते


कोशिशें जारी रखे इंसां तो, 

<
Tag: poetry और3 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!