बाल-मज़दूर's image
99K

बाल-मज़दूर

माँ-बाप इनके मजबूर

शिक्षा से ये कोसों-दूर

किताबों से, 

नहीं कोई नाता I

बस, रोटी कमाने का

हुनर है आता I

क्या ग़रीबी का है यही दस्तूर ? 

Tag: poetry और4 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!