पहली मुहब्बत's image
242K

पहली मुहब्बत

इतने ज़ख्म सहे है मेरे इस दिल ने

के

अब कोई दर्द मुझे दर्द नही लगता

एहसास ही नहीं रहा अब

मेरे इस

बे-जान जिस्म में

न धड़कने सुनाई देती है

न सुनाई देती है कोई आवाज़

सुनाई देती है

तो बस एक तेरी ही आवाज़

जो

हर पल मेरी य

Tag: poetry और1 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!