मौन समर्पण's image
82K

मौन समर्पण

आज उनकी समंदर-सी 
आँखों में प्यार देखा है!
शायद उनका –
बेपनाह,इकरार देखा है!

थरथराते लबों से–
कहते नहीं कुछ वो
उनकी आँखों से झरते–
अश्क़ों का सैलाब!देखा है

आज उनकी समंदर-सी
आखों में प्यार देखा है।

Read More! Earn More! Learn More!