ग़र माँ-बाप हैं तो आप हैं's image
Poetry1 min read

ग़र माँ-बाप हैं तो आप हैं

R N ShuklaR N Shukla February 8, 2023
Share0 Bookmarks 63312 Reads0 Likes
अपूर्व सृष्टि है पिता हमारा इस भूतल का !
देवत्व भरा व्यक्तित्व अनूठा इस जग का !

" माँ " है  इक ऐसा शब्द !
जिसमें पूरा ब्रह्माण्ड समाहित !

माँ-बाप हैं तो आप हैं

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts