नेताओं के वादे's image
Poetry1 min read

नेताओं के वादे

Pushpendra KumarPushpendra Kumar February 18, 2023
Share0 Bookmarks 57945 Reads1 Likes
कच्ची उम्र के मासूम चेहरों की
फैली हुई हथेलियां 
बेबस आंखें उम्मीदों में डबडबाती
महज़ उनकी स्थिति 
नहीं दर्शाती, 
वह दर

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts