लिख देता हूॅं's image
93K

लिख देता हूॅं

भूली बिसरी कोई कहानी लिख देता हूॅं
ज़हन में आई याद पुरानी, लिख देता हूॅं

कोई पूछे मेरे जीवन का मतलब अगर
मैं जीवन को बहता पानी लिख देता हूॅं

आसमाॅं में उड़े या शहीदों का कफ़न हो
रहेगा ये तिरंगा आसमानी लिख देता हूॅं
Tag: ग़ज़ल और1 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!