चुप रहो's image
चुप रहो कुछ न कहो,जो गुब्बार है दिल में रखो,
वो सामने जो है खड़ा,कितना तेरा है ये बता

दुख पर तेरे ले सर झुका,पीछे तेरी खिल्ली उड़ा,
भय अपने खुद तक ही रखो,हिम्मत करो आगे बढ़ो

सब अपने ही तो पराए है,हम खुद ही अपने साए है,
तूफा
Read More! Earn More! Learn More!