शहर जिसे कहते हैं मेरठ...'s image
302K

शहर जिसे कहते हैं मेरठ...

शहर मेरे तू मेरी मुहब्बत, तू है मेरी जान,

गंगा-जमुनी आन-बान की तू सच्ची पहचान।


शहर-छावनी में सोया है, सदियों का इतिहास,

महाभारत से जंग-ए आज़ादी तक का अहसास,

सन सत्तावन की क्रान्ति की, तूने छेड़ी तान।


हिन्दी -उर्दू के लफ़्ज़ों में, तेरी महक समाई,

मन्त्र-अजानें-गुरूबानियाँ, तूने सदा सुनाईं,

Read More! Earn More! Learn More!