शायरी तेरी मेरी's image
74K

शायरी तेरी मेरी

इश्क़ की राह में सैलाब मिला था मुझको

हर मुसाफ़िर यहां बेताब मिला था मुझको


इश्क़ के मारे सभी लोग थे तन्हा यारों!

सबकी आंखों में यहां आब मिला था मुझको


मेरे कहने से जरा पहले समझ ले बातें

अब तलक़ ऐसा न अहबाब मिला था मुझको


Read More! Earn More! Learn More!