रुख ए यार नवाब को दिखाया करो...'s image
Poetry1 min read

रुख ए यार नवाब को दिखाया करो...

NawabzadaNawabzada December 4, 2021
Share0 Bookmarks 212502 Reads0 Likes

#रुख_ए_यार....


चाँद दिख जाता है तुम दिखते नहीं

रुख ए यार 'नवाब' को दिखाया करो,


दिल की गली है मिलकियत आपकी

ख़्वाबो में ही सही आया जाया करो,


सताने का हक़ भी है हासिल तुम्हे

ख्यालो में ही सही तुम सताया करो,


चश्म ए नम में अब रहती हो बस तुम

वक़्त बे वक़्त इन्हें ना रुलाया करो..!


Comments