मर्जीसे बशर यहाँ ख़ुदा भी ख़ुद-ब-ख़ुद ख़ुदा नहीं होता's image
78K

मर्जीसे बशर यहाँ ख़ुदा भी ख़ुद-ब-ख़ुद ख़ुदा नहीं होता

माना कि कहीं भी कायनात से कुछ भी जुदा नहीं होता

ये भी तो सच है के ख़ला में कुछ भी तयशुदा नहीं होता

रोज-ओ-शब की

Read More! Earn More! Learn More!