तड़प's image
Share0 Bookmarks 12048 Reads0 Likes

मुझसे छिपोगी तो मुझे भी कैसे देख पाओगी

मुझे सताने की कोशिश में ख़ुद को तड़पाओगी


मेरी आवाज़ को अनसुना करती हो आज

जब न बोलूंगा तो हर आहट पर जाग जाओगी

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts