अब नहीं साथ तुम's image
99K

अब नहीं साथ तुम

मेरे आँखों में एक सागर है,

मेरे दो आंसुओं को देख तुम,

ना हमदर्दी जताना- ना घबराना

और ना ही हताश होना।

ये बहेंगे- शायद बहुत बहेंगे,

मेरे मन को भिगो देंगे,

और तेरे चित्त को भी व्याकुल करेंगे।

सपनों के टूट जाने से,

Read More! Earn More! Learn More!