हादसे मेरे शहर में's image
281K

हादसे मेरे शहर में

अकेला हूँ ज़िन्दगी के सफर में

कितने सपने हैं मेरी नजर में।


आते है सलामती पाने को

कुछ हादसे हैं उनकी ख़बर में ।


सोया है तन्हा सागर अभी

देखो हैं राज़ इसकी लहर में ।

Read More! Earn More! Learn More!