देश के रक्षक's image
2 min read

देश के रक्षक

mini POETRYmini POETRY June 16, 2020
Share0 Bookmarks 230775 Reads0 Likes

लॉकडाउन हो गया देश में

संकट बड़ा ही भारी है

जब बन्द हो गए सभी घरों में

तब कुछ सेवाएं जारी हैं।

बन्द हो गए मंदिर सारे

लोगों के मन मुरझाये हैं

अस्पतालों में देखा हमने

भगवान निकल कर आये हैं।

ख़ुद की परवाह किये बिना

दिन रात जो सेवा करते हैं

देकर नई जिंदगी हमको

खुद रोज़ मौत से लड़ते हैं

मुश्किल भारी इस घड़ी में

कोरोना जैसे रावण है

कोरोना की कमर तोड़ने

आया पुलिस प्रसाशन है

घर-परिवार की छोड़ कर अपने

गली सड़कों पर खड़े हुए हैं

न घुसने देंगे कोरोना को घर में

इस बात पर सब अड़े हुए हैं

लड़ रहे जो हमारे लिए

हमें उनका साथ निभाना है

घर में रुक कर हम सबको

लॉकडाउन को सफल बनाना है।।







https://youtu.be/9B3HJhVDJCI


Protector of the country



..Lockdown in the country

The crisis is too heavy

When all the houses were closed

Then some services are released

Temple closed

People's minds are withering

We saw in hospitals

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts