लकीरें's image
Share0 Bookmarks 17055 Reads0 Likes

किस्मत की लकीरें हैं

उसने उकेरी हैं

मुठ्ठियों में बंद यूँ

सबकी तकदीरें हैं


इनमें उलझा न कर

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts