एहसास's image
Share0 Bookmarks 57544 Reads0 Likes

धरती से आकाश तक

भाव से एहसास तक

शंका से विश्वास तक

एक ही आवाज़ है


कड़कड़ाती धूप हो कि

<

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts